नीतीश सरकार ने बढ़ाया महिलाओं का सम्मान

 

 

 

 

 

नीतीश सरकार ने बढ़ाया महिलाओं का सम्मान

बांका। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा मिल रहा है। महिलाओं को उनका सही सम्मान व पहचान मिल रहा है। आज के दौर में महिलाएं और जागरूक होकर पुरुषों के साथ हाथ से हाथ मिलकर काम कर रही है। महिलाएं शिक्षा क्षेत्र से लेकर अन्य क्षेत्रों में महत्वपूर्ण योगदान दे रही है। नीतीश कुमार ने महिलाओं को किसी का हाथ पकड़ कर चलने वाली आदत को भुला दिया है। उक्त बातें जदयू महिला प्रदेश अध्यक्ष कंचन गुप्ता ने मंगलवार को अविनाश पैलेस में महिला जदयू की बैठक को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि सूबे की सरकार ने शराब बंदी, बाल विवाह तथा दहेज बंदी कानून बनाकर महिलाओं का कल्याण किया है। जिससे महिलाओं की पहली पसंद सूबे की सरकार बन गई है। साथ ही उन्होंने महिलाओं को संगठन से जोड़कर मजबूत बनाने की बात कहीं। उन्होंने सभी पदाधिकारी को सभी बूथों पर एक-एक सक्रिय महिला को जोड़ने पर बल दिया। वहीं बेलहर विधायक गिरधारी यादव ने कहा कि महिला जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में जिला भर में संगठन के प्रति महिलाओं की रूची बढ़ी है। चुनाव में महिलाएं अब बड़ी भागीदारी निभा रही है। जरूरी है कि संगठन अधिक से अधिक महिलाओं तक पहुंचने का प्रयास करे। कार्यक्रम की अध्यक्षता महिला जिलाध्यक्ष सुजाता वैद्य ने की। उन्होंने कहा कि महिलाएं अब हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही है। पंचायत प्रतिनिधि में आरक्षण के बाद महिलाएं अब सामाजिक और राजनीतिक क्षेत्र में खुल कर सामने आ रही है। कार्यक्रम में प्रदेश महासचिव कृष्णदेव कुमार, व्यवसायिक प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष रितेश चौधरी, सुलतानगंज नगर अध्यक्ष शोभा कुमारी, प्रभा देवी, शमा परवीन, कुमारी पूनम ¨सह, शांतिशरण, गौरी देवी, मधु भारती, शबनम कुमारी, नीतू कुमारी, ¨रकू देवी, मीरा देवी, पूनम कुमारी, मीना देवी, स्नेहलता देवी, शीला यादव, संगीता देवी, शैम्पू देवी, पूनम देवी आदि मौजूद थे।